International Journal of Advanced Educational Research

International Journal of Advanced Educational Research


International Journal of Advanced Educational Research
International Journal of Advanced Educational Research
Vol. 3, Issue 2 (2018)

अम्बेडकर का आर्थिक चिन्तन : सामाजिक न्याय के सन्दर्भ में


अंजना

डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर 20वीं सदी के उन आधुनिक विचारकों में से एक है,जिन्होने समाज को नई दिशा दी । डाॅ0 अम्बेडकर सबके लिए समान मानवाधिकार चाहते थे और उन्होने सबको सामाजिक दृष्टि से समान स्थान दिलाने का प्रयत्न किया । वे मानव की गरिमा, स्वतंत्रता समानता, सामाजिक-आर्थिक न्याय, समान समृद्धि के पक्षधर थे । डाॅ0 अम्बेडकर का मुख्य अध्ययन विषय-अर्थशास्त्र था उन्होनें तत्कालीन भारत में सामाजिक विषमता के लिए उस समय की आर्थिक व्यवस्था एवं नीतियो को भी जिम्मेदार ठहराया था । इसी का निराकरण करने हेतु उन्होने अनेक उपाय सुझाये तथा संविधान में इस प्रकार के प्रावाधानों को रखा।
Download  |  Pages : 188-190
How to cite this article:
अंजना. अम्बेडकर का आर्थिक चिन्तन : सामाजिक न्याय के सन्दर्भ में. International Journal of Advanced Educational Research, Volume 3, Issue 2, 2018, Pages 188-190
International Journal of Advanced Educational Research International Journal of Advanced Educational Research