International Journal of Advanced Educational Research

International Journal of Advanced Educational Research


International Journal of Advanced Educational Research
International Journal of Advanced Educational Research
Vol. 4, Issue 3 (2019)

इतिहास शिक्षण की आवष्यकता, अवधारणा, उद्देष्य, महत्व एवं उपादेयता एक अध्ययन


निहारीका कुमारी, डाॅ. अनन्त झा

इतिहास मानव जीवन के समस्त क्रियाओं पर प्रकाष डालने वाला एक कथ्य या कहानी है जिसमें मानव के समस्त क्रियाओं तथा उत्थान पतन की झाँकी हमें देखने को मिलती है। इतिहास के द्वारा हम अतीत के उन सारे गुण-दोषों को देख पाते हैं जो मानव के द्वारा सम्पादित किये जाते रहे हैं। वर्तमान शैक्षिक परिप्रेक्ष्य में इतिहास विषय का शिक्षण व अध्ययन की महती आवश्यकता है। इस विषय की आवश्यकता, अवधारणा, उद्देश्य, महत्व तथा उपयोगिता अत्यन्त व्यापक एवं दूरगामी है। इतिहास विषय के महत्व और उपयोगिता को ध्यान में रख कर इतिहास विषय के अध्ययन पर बल देकर कार्य करना हमारा पुनीत कत्र्तव्य हैं। हीगेल ने भी इतिहास को सराहनीय विषय माना है। एक फ्रांसीसी विद्वान रेनन ने लिखा है कि इतिहास का अध्ययन राष्ट्रीयता के लिए उपयुक्त होता है। मानव समाज के कल्याण के लिए विषाल इतिहास को भूलाया नहीं जा सकता है, क्योंकि यह भी सत्य है कि अपने इतिहास को भूलने वाले राष्ट्र का कोई भविष्य नहीं होता है। अतः भविष्य निधि के रुप में इतिहास विषय का अध्ययन व शिक्षण की व्यवस्था आवष्यक है। अतः समस्त मानव जाति को इतिहास की सुरक्षा के लिए सदैव तत्पर रहना चाहिए।
Download  |  Pages : 65-70
How to cite this article:
निहारीका कुमारी, डाॅ. अनन्त झा. इतिहास शिक्षण की आवष्यकता, अवधारणा, उद्देष्य, महत्व एवं उपादेयता एक अध्ययन. International Journal of Advanced Educational Research, Volume 4, Issue 3, 2019, Pages 65-70
International Journal of Advanced Educational Research International Journal of Advanced Educational Research